Monday, February 22, 2010

रुचिप्रिया भारतीय का सादर अभिवादन स्वीकार करें



हिन्दी
ब्लॉग जगत के समस्त

वरिष्ठ एवं सम्मानित विद्वान लेखकों को

रुचिप्रिया भारतीय का सादर नमस्कार


मित्रो !

आज
से मैं भी आपके लेखन संसार से जुड़ रही हूँ

और मेरा प्रयास रहेगा कि मेरी कविताओं

और
अन्य रचनाओं से

हिन्दी भाषा और साहित्य को

कोई
ठेस पहुंचे..........अपितु

इनके कोष में और अधिक संवर्धन हो



आप सब के स्नेह और आशीर्वाद की आकांक्षा में

धन्यवाद,


रुचिप्रिया भारतीय

9 comments:

M VERMA said...

ब्लोगजगत में स्वागत है

RaniVishal said...

आपका स्वागत है ब्लोग जगत मे...!!
http://kavyamanjusha.blogspot.com/

Udan Tashtari said...

आज ही अलबेला जी के यहाँ देखा.

आपका स्वागत है. नियमित लेखन के लिए शुभकामनाएँ.

aarya said...

सादर वन्दे!
आपका स्वागत है, लेखन केवल मन कि अभिव्यक्ति का ही माध्यम नहीं है बल्कि इससे समाज पर भी असर पड़ता है, अतः हम यह कामना करते हैं कि आपके मनकी अभिव्यक्ति इस समाज और शास्त्र दोनों कि समृद्धि का वाहक बने.
रत्नेश त्रिपाठी

HARI SHARMA said...

रुचिप्रिया जी आपका ब्लोग जगत मे स्वागत है
http://hariprasadsharma.blogspot.com/

अनुनाद सिंह said...

रुचिप्रिया जी के हिन्दी चिट्ठाकारी में आने से हिन्दी को सचमुच चार-चाँद लग गये हैं। स्वागत है। आपका आना हिन्दी के लिये सर्वविध मंगलमय हो।

राजीव तनेजा said...

अलबेला जी नए लोगों को हिंदी ब्लोजगत से जोड़ कर बहुत अच्छा कार्य कर रहे हैं...उम्मीद है कि आप भी अपने सतत प्रयासों के जरिए हिंदी की सेवा करती रहेंगी

soumendra said...

ruchi priya ji, blog per aapka swagat hai,
mai TV shows to nahi dekhta per aasha hai,
ki kuch dino baad aapko ek achhe kavi ke
rup me dekh sakunga.

yun he likhte rahiye.

VISHWA KE ANGAN ME HINDI said...

हार्दिक बधाई, आपकी रचनाएं अच्छी लगी।
लिखना जारी रखिए । कला जगत के लोग हिन्दी की सेवा करें लेखन कार्य में तो अच्छा लगता है। आपसे अनुरोध है कि आप सार्वजनिक मंचों से भी राष्ट्रभाषा हिन्दी में अपनी अभिव्यक्ति को आयाम दीजिए। तथा अपनी स्क्रिप्ट को भी यथासंभव रोमन में न याद कर देवनागरी में ही याद कीजिए। कारण कि आज अधिकांश आबादी हिन्दी में बोलना तो जानती है लेकिन लेखन में पीछे। आपने प्रयास किया बहुत अच्छा लगा। कारण कि सफल लोग तो हिन्दी कम ही लेखन करते है। मैं भी हिन्दी की सेवा के लिए प्रतिबद्ध हूँ। व्यवस्तताओं के कारण अपने ब्लॉग पर उतना समय नही दे पाता हूँ। मेरे ब्लॉग पर भी आए

साकेत सहाय
www.vishwakeanganmehindi.blogspot.com
संपर्क 9609674973
hindisewi@gmail.com

धन्यवाद

Post a Comment